पालक बनकर आंगनबाड़ी केंद्र कांकेतरा के बच्चों के साथ कलेक्टर ने बिताया समय

admin
admin
3 Min Read

राजनांदगांव :  कलेक्टर  डोमन सिंह अपनी सहजता, सरलता और सौम्यता से हर किसी का मन मोह लेते हैं। जिससे उनसे मिलने वाले बेझिझक हो जाते हैं। माहौल ऐसा बन जाता है कि हर कोई अपनी बात सहजतापूर्वक रख पाते हैं। यह बात तब साबित हुई जब कलेक्टर बिना कोई पूर्व सूचना के पालक बनकर ग्राम कांकेतरा आंगनबाड़ी केंद्र क्रमांक 3 पहुंचे। यहां पहुंचकर कलेक्टर ने जनसहभागिता से मिले स्मार्ट टीवी से पढ़ाई कर रहे बच्चे के बीच बैठकर बच्चों के लगन और उत्साह को देखा। कलेक्टर ने पालक की भूमिका में बच्चों के साथ 1 घंटे बैठकर समय बिताया और बच्चों के बौद्धिक स्तर, ज्ञान व समझ को परखा। उन्होंने स्मार्ट टीवी के माध्यम से पढ़ाई के महत्व को समझा। इस दौरान कलेक्टर ने बच्चों को अक्षर ज्ञान और गिनती, कविता सुनाने कहा। उत्साह से लबरेज बच्चों ने बिना कोई झिझक के साथ उत्साह मन से कलेक्टर को हिंदी में कविता, अक्षर ज्ञान, हिंदी, अंग्रेजी वर्णमाला व गिनती सुनाये। कलेक्टर ने बच्चों के लगन को देखकर ताली बजाकर उनका उत्साह बढ़ाने के साथ ही उन्हें अपना आशीर्वाद और शुभकामनाएं दी।
कलेक्टर श्री सिंह ने आंगनबाड़ी केंद्र के कार्यकर्ता से कहा कि स्मार्ट टीवी के जरिए बच्चों को ज्ञानवर्धक कहानी, टेलीफिल्म भी दिखाएं। जिससे बच्चों का व्यक्तित्व विकास व कौशल विकास भी होता रहे। कलेक्टर ने कहा कि बालपन की सीख, समझ और ज्ञान उनके जीवन को रेखांकित करता है, इसे ध्यान में रखते हुए आंगनबाड़ी केंद्र में बालपन से ही बच्चों की नींव को मजबूत बनाना जरूरी है। कलेक्टर श्री सिंह आंगनबाड़ी केंद्र के बच्चों से इतने सहज रूप में मिले, जिससे कम समय में भी बच्चे उनसे घुल मिल गये और उनके साथ अपने ज्ञान और बालपन को साझा किया। कलेक्टर ने कहा जनसहभागिता से जिले के सभी प्राथमिक शाला और माध्यमिक शाला के लिए स्मार्ट टीवी दान में मिले हैं। इसी तरह अब तक 50 से अधिक आंगनबाड़ी केंद्र के लिए जनसहभागिता से स्मार्ट टीवी दान में मिला है। कलेक्टर ने दान देने वाले लोगों की प्रशंसा करते हुए कहा कि हम सभी समाज के एक अंग हैं। समाज के विकास में हम सब का योगदान रहना चाहिए। कलेक्टर ने कहा कि स्मार्ट गांव, स्मार्ट जनता, स्मार्ट आंगनबाड़ी केंद्र और स्मार्ट बच्चे की दिशा में यह प्रयास सार्थक साबित होगा। उन्होंने केंद्र में बने भोजन का अवलोकन किया। आंगनबाड़ी केंद्र में स्वादिष्ट भोजन देखकर कलेक्टर ने केंद्र की प्रशंसा की। आये एनीमिया महिला और 0 से 6 साल के बच्चों के पालको से चर्चा की। आंगनबाड़ी केंद्र में नियमित रूप से आकर यहां दिए जाने वाले गुणवत्तायुक्त व पोषकयुक्त भोजन ग्रहण कर स्थाई रूप से अपनी समस्या से मुक्त होने का सलाह दिया।

Ro No. 12242/26
Ad imageAd image
Share this Article