चीन के वैज्ञानिकों का कमाल, पहली बार तंबाकू से बनाया कोकीन…

admin
admin
2 Min Read

चीन : कोकीन को सदियों से दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है। हालांकि कुछ लोग इसे ज्यादा मात्रा में लेकर नशा करने लगते हैं। ऐसे में यह पदार्थ किसी भी ड्रग जितना खतरनाक बन जाता है। वैसे तो कोकीन को कोका प्लांट से निकाला जाता है, लेकिन हाल ही में वैज्ञानिक इसे तंबाकू की पत्तियों से बनाने में कामयाब हुए हैं।

Ro No. 12242/26
Ad imageAd image

यह कारनामा चीन की कुनमिंग इंस्टीट्यूट ऑफ बॉटनी के रिसर्चर्स ने कर दिखाया है। तंबाकू की पत्तियों को कोकीन में बदलने की प्रोसेस काफी जटिल है। कोकीन के अलावा इन पत्तियों को और भी अच्छे कामों के इस्तेमाल के लिए तैयार किया गया है।

Ro No. 12242/26
Ad imageAd image

जान लें, क्या है कोकीन?
कोकीन एक प्रकार का कार्बनिक अणु (organic molecules) है, जो ट्रोपेन एल्केलॉयड्स की श्रेणी में आता है। इसे ऐसे पौधों से निकाला जाता है, जो पूरी तरह से शाकाहारी हैं। इंसान ने इनकी पैदावार अपनी जरूरतों के हिसाब से बढ़ाई। पुराने जमाने में कोका की पत्तियों को चबाकर एनर्जी बूस्टर के जैसे यूज किया जाता था। आज इसे मरीजों को एनेस्थीसिया के रूप में दिया जाता है।

Ro No. 12242/26
Ad imageAd image

बायो-इंजीनियरिंग कर बनाया कोकीन
वैज्ञानिकों ने कोकीन के 6 जीन्स को तंबाकू के पौधे में लगाया। इसके जरिए इंजीनियर्ड तंबाकू प्लांट से कोकीन बना। इससे वैज्ञानिकों के रफ आइडिया मिला कि यह ड्रग कैसे बनता है। नई तकनीक से फार्मा इंडस्ट्री को फायदा होगा। कोकीन रिलेटेड दवाएं बनाने में आसानी होगी। इससे रिसर्चर्स को कोकीन से जुड़े और भी कंपाउंड्स के बारे में जानकारी मिलेगी और उन पर रिसर्च करने का मौका मिलेगा।

Ro No. 12242/26
Ad imageAd image
Share this Article