आगर में राहुल गांधी बोले- भाजपा और आरएसएस फैलाते हैं नफरत

admin
admin
4 Min Read

आगर । राहुल गांधी ने आगर में एक सभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि भाजपा और आरएसएस के लोग एक तरफ तो खुद को देशभक्त और राष्ट्रवादी बताते हैं और दूसरी तरफ नफरत फैलाते हैं। वह भाई को भाई से लड़वाते हैं। धर्म को धर्म से लड़वाते हैं। उन्होंने जय श्रीराम जय सियाराम और हे राम के नारों की अपने अंदाज में व्याख्या की। उन्होंने यात्रा में मिले एक पंडित जी से संवाद के हवाले से तीनों नारों को समझाया और इनके जरिए भाजपा और आरएसएस पर निशाना साधा।
राहुल गांधी ने कहा – पंडित जी ने मुझसे गहरा सवाल किया। कहते हैं राहुल जी जो भगवान राम थे वो तपस्वी थे उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी तपस्या में डाल दी। गांधी जी हे राम कहते थे। गांधी जी का नारा था हे राम। हे राम का मतलब क्या? हे राम का मतलब राम एक जीने का तरीका था भगवान राम सिर्फ एक व्यक्ति नहीं थे जिंदगी जीने के तरीके थे। उन्होंने पूरी दुनिया को जीने का तरीका सिखाया। आरएसएस और भाजपा के लोग जिस भावना से भगवान राम ने अपनी जिंदगी जी उस भावना से जिंदगी नहीं जीते हैं। राम ने किसी के साथ अन्याय नहीं किया। राम ने समाज को जोडऩे का काम किया। राम ने सबको इज्जत दी। आरएसएस और बीजेपी के लोग भगवान राम के जीने के तरीके को नहीं अपनाते। वो सियाराम और सीताराम कर ही नहीं सकते क्योंकि उनके संगठन में एक महिला नहीं है तो वो जयसिया राम का संगठन ही नहीं है उनके संगठन में सीता तो आ ही नहीं सकती सीता को तो बाहर कर दिया। ये बातें मुझे एक पंडित जी ने सड़क पर कही। मैं आरएसएस के लोगों से कहना चाहता हूं कि जय श्रीराम जय सियाराम और हे राम का प्रयोग कीजिए। सीता जी का अपमान मत कीजिए।
नोटबंदी और जीएसटी को लेकर फिर केन्द्र पर बरसे
राहुल गांधी ने कहा कि सड़क पर मैं लाखों लोगों से मिला हूं। किसानों से मजदूरों से बच्चों से सभी से मिला। किसानों को खाद नहीं मिलता मिलता है तो महंगा मिलता है। सही दाम नहीं मिलता हमारा कर्जा माफ नहीं होता। किसान पूछता है हिंदुस्तान के सबसे बड़े अरबपतियों का कर्जा माफ होता है हमारे कर्जे माफ नहीं होते। राहुल गांधी ने कहा कि किसान और छोटे दुकानदार कहते हैं कि हिंदुस्तान के सबसे बड़े अरबपतियों के लिए रास्ता साफ किया जा रहा है। छोटे दुकानदार कहते हैं नोटबंदी और जीएसटी ने हमारे धंधों को खत्म कर दिया। इससे पहले लंच ब्रेक के बाद यात्रा पालखेड़ी से शुरू हुई। यात्रा में बड़ी संख्या में महिलाएं शामिल हुई हैं। कई महिलाएं तिरंगा साफा बांधकर कदमताल कर रही हैं। सुबह यह यात्रा जनाहा गांव से चली थी। लंच ब्रेक सुमराखेड़ी में हुआ। राहुल गांधी के साथ मीनाक्षी नटराजन पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह उनकी पत्नी अमृता सिंह और विधायक जयवर्धन भी चले। यात्रा अपने 86वें दिन आगर-मालवा जिले में पहुंची। आगर-मालवा जिले में ये यात्रा सबसे लंबी दूरी तय करेगी। यहां यात्रा 3 दिन और दो रात रुक कर 97 किलोमीटर चलेगी। यहीं से यात्रा राजस्थान में प्रवेश कर जाएगी।

Ro No. 12242/26
Ad imageAd image
Share this Article